🙏🌷जगतजननी माँ🌷🙏

माँ,ममता,समता, ज्योति भी तुम,                            जीवन भी तुम,                            आधार भी तुम,                             साँस तुम,                                   संसार भी तुम,   🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

जीवन की चाह जीने की शक्ति तुम,                               भावनाओं की उद् गार हो तुम,                       शत् शत् नमन हे माँ,      🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

सपनीली सी आँखों का संसार हो तुम।।                                      माँ ,ममता ,समता, ज्योति भी तुम,                            ………सारा संसार हो तुम ।।       🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏                  🌺🌺🌺🌺🌺🌺

 

 

🌈📃हिंदी दिवस📃🌈

कैसे मान लूँ के हिंदी दिवस है?

कैसे जान लूँ के हिंदी दिवस है?

📃📃📃📃📃📃📃📃📃

हिंदी को हिंदवासियों ने सताया है,

जाने किसलिये हमारी राष्ट्रभाषा ने इतना कष्ट उठाया है।

📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃

क्या हिंदी हिंदुस्तानीयों की पहचान नहीं?

क्या बोली -भाषा ,गीत- संगीत,साहित्य संस्था में हिंदी का मान नहीं?

📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃

फिर क्यों हर बार ही हिंदी के साथ दोहरा रवैया अपनाते हैं?

कभी कहते हैं हिंदी हमारी है,

कभी बड़े शौक से कहते हैं कि,

साहब हमारे बच्चों को तो हिंदी ही नहीं आती है,

कैसे, कोई बताये के मेरे राष्ट्र की मेरे देश की पहचान हिंदी है।

📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃

हिंदी मेरी भाषा ,मेरी बोली है।

हिंदी को हिंदवासियों  इतना ना सताओ,

हो सके तो हिंदी की जननी संस्कृत को भी अपनाओ।

📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃📃

ऐसे कैसे तुम अपनी पहचान भूल जाते हो ?

अपनी भाषा अपनी संस्कृति के गीत तो गुनगुनाते हो,

फिर भी हिन्दवासियों हिंदी को हिंद की आधारशिला, क्यूँ नहीं मानते हो?

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

“स्मृति स्नेहा”

www.smritisnehablogs.com